Follow by Email

सोमवार, 13 अप्रैल 2015

बाजलि बैरनि रे बाँसुरिया - BhojpuriKa

बाजलि बैरनि रे बाँसुरिया - BhojpuriKa

बाजलि बैरनि रे बाँसुरिया,
टूटल सिवसंकर के ध्यान,
केथुवा चढ़ल सिवसंकर आवें,
केथुवा चढ़ल भगवान,
बाजलि बैरनि रे बाँसुरिया…!

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें